आरा पुलिस कस्टडी में शोभा देवी की मौत की सीपीआईएम ने की निंदा, किया उच्चस्तरीय जांच की मांग.

आरा जिला के पीरो थाना अंतर्गत पुलिस कस्टडी में शोभा देवी की मौत के बाद विपक्ष सरकार पर हमलावर है. जनवादी महिला समिति,एडवा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामपरी देवी, सीपीआईएम राज्य कमिटी सदस्य मनोज कुमार चंद्रवंशी ने निम्नलिखित प्रेस विज्ञप्ति जारी करने हुए कहा कि आरा जिला के पीरो थाना के अन्तर्गत अत्यंत पिछड़ा वर्ग की महिला शोभा देवी को उनके पुत्र के साथ किसी मुकदमे में उनको पूछताछ के लिए पीरो थाना लाया गया, लेकिन पुलिस कस्टडी में ही महिला की मौत हो गई. उनके परिवार जन का कहना है कि मृतक शोभा को पुलिस कस्टडी में चार दिन रखा गया और उसके साथ मारपीट किया गया.

 

उक्त नेताओ ने कहा है कि किसी को भी पूछताछ के लिए 24 घंटा रखा जाता है लेकिन पीरो थाना प्रभारी ने तीन चार दिन रखकर उसके साथ मारपीट करना कानून का उल्लघंन है. नीतीश और भाजपा के सरकार के कार्यकाल में महिला एवम् कमजोर वर्ग अत्यंत पिछड़ा, दलित पर हमले बढ़े है. कमजोर वर्ग राज्य में असुरक्षित हैं. राज्य में चारो तरफ पुलिस, अपराधियों, माफियाओं का कब्जा है. सुशासन नहीं महाजंगल राज्य का शासन चल रहा है. उक्त नेताओं ने मांग किया है कि आरा जिला के एसपी,डीएसपी, थाना प्रभारी पर उच्च स्तरीय जांच बैठाई जाय तथा दोषी पर कानूनी कार्रवाई करते हुए कड़ी सजा दी जाए, तत्काल थाना प्रभारी को बर्खास्त किया जाय. मृतक महिला के आश्रित को उचित मुआवजा दी जाए.

बताया जाता है कि महिला को चार दिनों से महिला सिपाही की निगरानी में रखकर उससे पूछताछ की जा रही थी. हालांकि पुलिस मारपीट करने की बात से साफ इनकार कर रही है. पीरो डीएसपी ने बताया कि महिला रविवार की सुबह शौच के लिए बाथरूम गई थी जहां उसने गले में गमछा बांधकर खुदकुशी कर ली. घटना के बाद आधा दर्जन थाना की पुलिस कैंप कर रही है.

घटना के बाद महिला के घर में कोहराम मच गया है. इधर महिला के बेटे प्रकाश का कहना है कि उसे और उसकी मां को अलग-अलग जगह रखा गया था. पूछताछ के दौरान उसके साथ मारपीट भी की गई. वहीं, दूसरी ओर पुलिस इसे फांसी लगाकर आत्महत्या करने की बात कह रही है. हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट होगा.

रिपोर्ट: बिक्रांत रॉय 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed