Posts Slider

January 21, 2022

Common View

सच के साथ

परीक्षा के बाद लौटा देगी परीक्षा फीस, रेलवे का बड़ा ऐलान !

रिपोर्ट कॉमन व्यू: 
रेलवे र‍िफंड करेगी परीक्षा फीस

रेलवे ने 90 हजार से ज्यादा  पदों पर बंपर वैकेंसी निकाली है. इन पदों पर आवेदन के लिए जनरल कैटगरी को 500 रुपये और आरक्ष‍ित श्रेणी को 250 रुपये परीक्षा शुल्‍क के रूप में देना होगा. हालांकि इससे पहले रेलवे जनरल कैटगरी से 100 एग्‍जामिनेशन फीस लेती थी, जबकि एग्‍जेम्‍पटेड कैटगरी यानी आरक्ष‍ित श्रेणी के लिए परीक्षा निःशुल्क  थी. लिहाजा, बढ़ी हुई परीक्षा  फीस को लेकर उठे सवाल पर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बड़ा ऐलान किया है. रेल मंत्री ने कहा है कि रेलवे भर्ती परीक्षा के लिए बढ़ाई गई परीक्षा  फीस को परीक्षा के बाद रिफंड कर दिया जाएगा.

पीयूष गोयल ने कहा कि देखा जाए तो परीक्षा शुल्‍क में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है. उम्मीदवार यदि रेलवे परीक्षा देता है तो बढ़ी हुई फीस उसे परीक्षा देने के बाद वापस कर दी जाएगी. यानी आरक्ष‍ित श्रेणी के उम्मीदवार  यदि परीक्षा देते हैं तो उनकी पूरी राशि 250 रुपये उन्‍हें वापस कर दी जाएगी. जबकि परीक्षा में शामिल होने वाले जनरल कैटगरी के उम्मीदवारों  400 रुपये वापस कर दी जाएगी.

बता दें कि इससे पहले जनरल कैटगरी के लिए रेलवे की परीक्षा फीस 100 रुपये थी और आरक्ष‍ित के लिए निःशुल्क . पीयूष गोयल ने कहा कि यह व्यवस्था  उन उम्मीदवारों  को छांटने के लिए किया गया है जो परीक्षा को लेकर गंभीर नहीं हैं. परीक्षा फीस कम होने के कारण बहुत से लोग फॉर्म तो भर देते हैं पर परीक्षा देने नहीं आते. सरकार परीक्षाओं पर बहुत बड़ा खर्च करती है. इसलिए यह नई व्‍यवस्‍था शुरू की गई है. परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों को उनका पैसा रिफंड कर दिया जाएगा. जिन्‍होंने 250 रुपये की फीस भरी है, उन्हें  पूरा रिफंड मिलेगा और जिन्‍होंने 500 रुपये फीस दी है, उन्‍हें 400 रुपये रिफंड होगा. रेलवे सिर्फ ऐसे उम्मीदवार चाहती है जो परीक्षा के लिए गंभीर हैं.

पीयूष गोयल ने कहा कि उम्मीदवार अपने एप्‍ल‍िकेशन फॉर्म में किसी भी भाषा में हस्ताक्षर  कर सकते हैं. वे हिंदी  या अंग्रेजी में ही हस्ताक्षर करने के बाध्य  नहीं हैं. बता दें कि 18 फरवरी को बिहार और केरल में रेलवे भर्ती में उम्र सीमा को लेकर विरोध किया गया था. ऐसे में कई श्रेणियों में उम्र को लेकर छूट भी दी गई है. यह भी स्पष्ट  किया गया है कि उम्मीदवार  क्षेत्रीय भाषा में भी परीक्षा दे सकते हैं. मसलन, बंगाली और मलयालम में भी परीक्षा दे सकते हैं.

उम्र सीमा बढ़ाई
रेलवे की ओर से जारी एक बयान में कहा गया था कि असिस्‍टेंट लोको पायलट और लोको पायलट पदों पर आवेदन की उम्र सीमा बढ़ाई जा रही है. जनरल कैटगरी में 30 साल तक के उम्मीदवार इन पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं, जबकि पहले इसकी उम्र सीमा 28 थी. वहीं, OBCs के 33 साल तक के उम्मीदवार इन पदों पर आवेदन कर सकते हैं, जो पहले 31 थी. SC और ST श्रेणी के लिए इन पदों पर आवेदन की उम्र सीमा बढ़ाकर 35 साल कर दी गई है, जो कि पहले 33 साल थी